Anchor Tag Attribute in Hindi | Html Tutorial in Hindi

आज के इस post में हम Anchor tag के attribute के बारे में जानेंगे , की  html के a tag में कौन – कौन से Attribute है ,और इसका कैसे use करते है  , और यह कैसे काम करता है , साथ ही साथ हम अपने html coding में run करके देखेंगे.

पिछले  पोस्ट में हमने anchor tag के बारे में जाना था , अगर आपने वो post अभी तक read नहीं किया है , तो उसे read कर ले

Anchor tag in Hindi | A tag | Html Tutorial in Hindi | हिंदी में

Anchor Tag Attribute in Hindi Html Tutorial in Hindi

Anchor Tag Attribute in Hindi

  • Charset :– इस attribute का use charset means character set करने के लिए किया जाता है जिस भी page को आप link करना चाहते है , लेकिन html 5 की सबसे बड़ी खासियत यह है , की इसमें charset by default हुआ मिलता है , और वो है , UTF-8 | लेकिन ध्यान दे की इस attribute को कोई भी browser support नहीं करता , और इस attribute को html5 से हटा दिया गया है.

  • Coords :– coords एक ऐसा attribute है , जिसका use area के लिए coordinate specify करने के लिए किया जाता है | cords attribute का use shape attribute के साथ किया जाता है , ताकि जिस प्रकार का वह shape हो उस प्रकार का coords value set कर सके , ध्यान दे की coords attribute सिर्फ opera browser and firefox browser पर ही काम करते है | और साथ ही साथ इस attribute को html5 से हटा दिया गया है |

Coords attribute की value’s कुछ इस प्रकार है |

  • Default :– अगर shape को default set किया गया है , तो इसके लिए coords की value set नहीं करनी पड़ती |
  • (x1,y1,x2,y2):– इस value का use तब किया जाता हैz , जब shape की value , rect means rectangle define की गई होती है , जिसमे (x1,y1) value rectangle के top and left की value’s होती है और (x2,y2) की value’s rectangle के क्रमशः bottom-right corner की होती है | ध्यान दे की यहाँ (x1,y1,x2,y2) को सिर्फ एक syntax के रूप में बताया गया है , आपको programming करते समय इनकी value’s रखनी है
  • (x1,y1,raidus) :– इस value का use तब किया जाता है , जब shape की value को circle set किया गया हो | इसमें x1 की value window screen के left corner से लेकर circle के mead point या फिर center तक रहती है | तथा y1 की value window screen के top corner से लेकर circle के mead point या center तक रहती है , और अंत में तीसरी और अंतिम value वो है radius means त्रिज्या | जो circle के radius को बताती है |
  • (x1,y1,……xn,yn):– यह value तब use की जाती है , जब shape की value poly define की गई हो , यहाँ पर आप देख सकते है की (x1,y1 upto xn,yn) तक का है जो क्रमशः poly के शिरो की value’s है | याद रखे की अगर कोई poly है और उसका कोई particular शीर्ष के लिए वह दो value’s या मान लेंगे , पहला value left window screen से उस poly के शीर्ष तक तथा दूसरा value उसी window screen के top से लेकर उस poly के शीर्ष तक | इस प्रकार एक poly में जितने भी शीर्ष रहे आप उसकी value assign कर सकते है |

Example

इस example को run करते समय थोडा ध्यान दे , की जो first line में planets.gif है , वो another file है ,जो मैंने अपने computer से ली है, उसी तरह 3,4,5 number पर जो pages है , वो मैंने अपने pc में बनाये थे , आप याद रखे की आप जो भी पेज बनाये उसे link करे , नहीं तो आपको code run करने से issue आ सकती है.

  • Download :– यह attribute यह बताता है की कोई content या file , author द्वारा hyperlink के through downloading के लिए represent किया गया है , जिसमे कोई user उस particular link पर click करके उस file को download कर सकता है | याद रखे की author द्वारा file का name कुछ और हो सकता है अब अपने local disk में save करते समय file का name change कर सकते है | download attribute internet explorer और safari browser पर work नहीं करता | download attribute को href attribute के द्वारा set किया जाता है

Example

इस example को आप simply copy paste करके run कर सकते है , लेकिन इस example के लिए आपके पास Internet Connection होना चाहिए,क्योकि मैंने जिस photo की link mention की है , वो मेरी server पर hosted है , तो ऐसे में आपके पास internet connection होना जरुरी है

  • Href :– इस attributes की help से हम किसी भी page का link set करते है , means हमें जिस page को hyperlink या फिर linking करना होता है ,तो इस attribute की help से हम उस page का link specify करते है | याद रखे की a tag में जितने भी attribute है , वो href attribute के बिना अधूरे है |

याद रखे की href attribute निम्न तरह के कार्य भी कर सकता है |

  1. Href attribute के through हम किसी दूसरी website/blog के link भी डाल सकते है
  2. इसके साथ-साथ हम अपने site के किसी भी page को link कर सकते है |
  3. Href attribute का use किसी भी protocol के लिए easily use किया जा सकता है
  4. Href का use विभिन्न script के लिए भी use किया जाता है |
  5. Href attribute के द्वारा page के विभिन्न location के लिए target set करके रख सकते है | अगर हमें top के लिए decide करना है तो हम (“#top”) लिखेंगे |

इस  example में आप देख सकते है , की मैंने href attribute में मैंने एक image को Link किया है , जो मेरे local computer पर था ,आप भी अपने computer के किसी भी photo या web page की link दे सकते है.

  • Hreflang :– हम जो भी page को linking या hyperlink करते है ,तो उस page में hreflang का use उस page का language specify करने के लिए होता है | यह language आपको एक तरह से बताता है की linking page कौन सा language में है |

याद रखे की language code सिर्फ दो digit के होते है उदाहरण के तौर पर English के लिए “ en” और हिंदी के लिए “hi” |

इस example में आप देख सकते है ,की hindibazaar.com/about-us  Page को मैंने search engines को बताया है , की यह page English में है , इस तरह आपका जो page जिस language पर है , आप specify कर सकते है .

  • Shape attribute :–shape attribute का use coords attribute के साथ use किया जाता है , किसी shape का specific size declare करने के लिए या फिर कोई specific shape create करने के लिए |

ये attribute only opera mini and firefox browser पर work करते है .

इस attribute के साथ इनकी कुछ value’s है , जो shape create करने में help करती है |

  1. default :– इस value के through पुरे छेत्र को cover किया जाता है |
  2. rect :– इस value के through , rectangular area को cover करता है |
  3. circle :–इस value के through , circle area को cover करता है |
  4. poly :–इस value के through , poly type के shape को cover करता है |

इस example को run करते समय थोडा ध्यान दे , की जो first line में planets.gif है , वो another file है ,जो मैंने अपने computer से ली है, उसी तरह 3,4,5 number पर जो pages है , वो मैंने अपने pc में बनाये थे , आप याद रखे की आप जो भी पेज बनाये उसे link करे , नहीं तो आपको code run करने से issue आ सकती है.

  • Target attribute :–target attribute यह specify करता है , की जिस page को link किया गया है , वो linking page कहा पे open होगा , means browser window के same tab पर open होगा या फिर another tab.इसकी कुछ value है , जो इस प्रकार है |
  1. _blank :–इस value के through link को click करने पर linking page दुसरे tab में open होगा |
  2. _self :– इस value के through link को click करने पर linking page same tab पर open होगा | ये by default set value होती है |
  3. _parent :- linking document parent frame में open होगा.
  4. _top :- linking document window के पुरे shape में open होगी.
  5. framename :- linking page specified frame में open होती है.

इसमें linking page new tab में open होगा , क्योकि हमने target की value _blank दी हुयी है,इसी तरह आप value के लिए भी example create कर सकते है.

  • Type attribute :– इस attribute का use linking page में internet media type बताने के लिए specify किया जाता है , इस attribute को सभी browser support करते है | इसे प्रायः MIME type से भी जाना जाता है , generally इस attribute का use किसी file का information provide कराने के लिए use किया जाता है , इससे यह पता चल जाता है , की file जो web में available है , उसका type क्या है |

जैसे किसी site में अगर कोई mp3 file है , तो उसके सामने एक sound का symbol या icon बन जायगा |

  • Rev attribute:-– rev attribute को html5 से हटा दिया गया है , rev attribute के जगह पर अब rel attribute का use किया जाता है इस कारन मै इस post में आपको rev attribute के बारे में नहीं बताऊंगा |
  • Rel attribute :– rel attribute का use relationship बताने के लिए use होता है , current document and linking document के बीच | rel attribute का use केवल href attribute के साथ होता है , और इस attribute को सभी प्रकार के browser support करते है | लेकिन एक बात ध्यान रखे की rel attribute का use केवल search engine link की extra information प्राप्त करने के लिए use करते है , इस attribute का use browser किसी भी प्रकार से नहीं करता |

इस example में nofollow value indicate करता है , particular link को click न करे या फिर उन link’s को follow न करे | मैंने आपको पहले ही बता दिया था की rel के जितने भी attributes होते है , वे केवल search engine understandable होते है , न की browser understandable |

Nofollow attribute का use google द्वारा किया जाता है , user को indicate करने के लिए , की particular link को follow या click न करे |

  • Name :- name value का use anchor name specify करने के लिए किया जाता है .इसे html5 से remove कर दिया गया है , अब mostly id attribute use किया जाता है , name attribute की जगह .

मै भी आपको highly recommendation देता हु , की आप भी Id attribute का use करे.

  • Media :-यह attribute html5 में नया है , आप Media value के through यह specify कर सकते है , की आपकी linking document किस device के लिए optimized है , means आपकी linking document किस तरह की device पर proper way में open होगी  .

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *