Meta Tag in Hindi | Html Tutorial in Hindi | Html हिंदी में

आज के इस post में हम meta tag के बारे में जानेंगे , की  html में meta tag  कैसे  use करते है  , और यह कैसे काम करता है , साथ ही साथ हम अपने html coding इसे run करके देखेंगे.

Meta Tag in Hindi

Meta tag :- meta tag document के बारे में general information provide कराता है , एक तरह से हम कह सकते है , की meta tag document के बारे में metadata (data information about the data) store करके रखता है | meta tag का result या output आपको आपके browser window पर नहीं दिखेगा, क्योकि meta tag का use search engine करते है |

Meta Tag in Hindi Html Tutorial in Hindi Html हिंदी में

इसके अलावा search engine के साथ-साथ इसका use browser भी करते है , की content को user के सामने किस तरह represent किया जाये | meta tag को head section के अन्दर define किया जाता है |

meta tag को हमेशा उसके attribute’s के साथ use किया जाता है| meta element के रूप में हम page description , keyword’s , author of the document  and last modification or other meta data का use करते है, ध्यान रखे की meta tag को close नहीं किया जाता

meta tag उनके attribute’s के बिना अधूरे है , इस कारन हम उनके attribute’s का discussion करेंगे जो काफी useful है|

Meta tag attributes

1.charset :–इस attribute का use html में character encoding describe करने के लिए करते है| यह attribute html5 में नया है, इस attribute के आने से complexity कुछ कम हुई है | पहले के version(4.01) में हम

इस line of code का use करते थे , लेकिन इस नए attribute के html में जुड़ने से हम अब इसी code को कुछ इस तरह लिखते है

इसका example दिया गया है, जिसे आप देखकर बेहतर रूप से समझ सकते है |

Example :–

2.content :– यह attribute html 5 का important attribute में से एक है , इसकी value हम text रूप में देते है , content attribute की कोई भी value , name attribute and http-equiv attribute के साथ जुडी हुई रहती है , means हम एक तरह से यह कह सकते है, की content attribute में हम name attribute का description देते है | इसे हम एक बेहतर example के रूप में समझ सकते है|
Example :–

3.http-equiv :– यह attribute http header provide करता है , जिसके through हम content attribute से information प्राप्त कर सके | http-equiv , HTTP header की तरह work करता है | इसमें तीन तरह की value’s का use होता है ,

  1. content type :- जिसका use document के character encoding के लिए होता है|
  2. default style :- इसका use style sheet specify करने के लिए होता है , जो यह बताता है की style sheet का use हमारे page पर हो रहा है
  3. refresh :- जिसका use document को refresh(reload) करने के लिए होता है| इन तीनो attribute का example नीचे दिया जा रहा है|
    Example :–

4.name :– name attribute का use metadata (that is data about data ) का name specify करने के लिए होता है| name attribute में भी कई value’s होती है | जैसे description , author and keyword’s |

इनके value name से ही specify हो रहा है, की ये क्या work करते है फिर भी हम इसके बारे में थोडा विस्तार से जान लेते है |

  1. description :- इसके through हम अपने document के बारे में थोडा सा जानकारी बताते है , जिसका use search engine किसी भी site का description दिखाने के लिए show करते है|
  2. author :- इसके through हम document के author का name specify करते है |
  3. description :- इसमें हम document का description देते है, की document किस बारे में है , साथ ही इसका use search engine भी करते है |
  4. generator :- इसके through हम specify करते है की हमारा document किस software package के through generate हुआ है |पांचवा और अंतिम value के रूप में है ,
  5. keyword :- keyword का basically use search engine के लिए किया जाता है , keyword के through हम अपने document/website में keyword specify करते है , जो search engine understandable होती है | keyword’s के रूप में जो भी word’s use किया जाता है , वो“,”(comma symbol)के through अलग-अलग रहते है |
    इन सभी value काexample नीचे दिए जा रहा है , जिसके through आप बेहतर रूप में इसे समझ सकते है|
    Example:–

5.scheme:– scheme attribute को html5 से हटा दिया गया है , scheme attribute का use , content attribute का format define करने के लिए किया जाता है| इसे आप नीचे example द्वारा बेहतर रूप में समझ सकते है |
Example:–

दोस्तों मुझे उम्मीद है , की आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी , अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी , तो कृपया अपने विचार comment के माध्यम से बताये.

i hope आपको यह example समझ में आ गयी होगी , और meta tag भी अच्छी से समझ में आ गयी होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *